First death anniversary

Shehjar e-magazine Shehjar Online


प्रिय शशि शेखर !
पहली पुण्य तिथि पर
चमन लाल रैना
कहाँ हो तुम , कुछ तो कहो !

किस लोक के वासी बन गये।

कुछ तो कहो

एक स्थान से दूसरे स्थान तक की कहीँ

यात्रा होती है , सुख मय अथवा दुःख मय

कौन जनता है ,बस एक स्मृति विशेष।

बस यही गद्य है जीवन का

तो पद्य क्या है ?

आत्मा की पुकार ,तुझे देखने के लिए

क्या धुन्धली हो सकती है मेरी कविता ?

नहीं नहीं ,

तुम्हारा आभास सदा हमारे अन्तर्मन में

अदृश्य में हो कर भी सुंदर होती है |

तुम्हारी यादाश्त,एक स्मरण

कविता लयमान हो कर प्रेरित करती है

मनोरम वाणी बन हृदय को छूती है |

रोने की कविता भी क्या आत्मा का संगीत है ?

कविता ताल ,लय, छंद का परिधान पहनती है

सुर संगीत बांटती है

जीवन |के अन्तिम साँस में भी

हर कवि या गीतकार का यही प्रयास है

कि अभाव में भाव भरना

रोने से दुःख . की अनुभूति ......

निराकार को साकार बनाती

भाव को विभाव में परिष्कृत करती

अकस्मात् चले गए ,इसका है क्षोभ

"हर कोई छोड़ जाता है जीवन में --,

अवश्य ही.।,

कुछ ना कुछ अधूरा .........

जिसे पूरा करते हैं आने वाले पीढ़ियाँ .........."

कहते है ....,

मनुष्य में सबसे पहले आया था

अदृश्य रूप में मृत्यु का गीत

-प्रेरणा बन गयी भावी प्रकृति का संगीत

...और इसी अनुभव से हुआ

'वदुन रिवुन ' का प्राण सञ्चार

जन्म दिया स्मृति को

फिर मूक को बना दिया वाचाल

,सन्नाटे को शब्द मिला

भाषा शून्य को भाषा का दान मिला


नित्य प्रति सदा तर्पण में तुम्हारी याद !
चमन लाल रैना
Comments
FONDLY CALLED SAIB JI BY US , WAS VERY LOVELY PERSON,COMPASSIONATE TOWARDS YOUNG, INSPIRATIONAL TOWARDS ME.MAY HE ATTAIN ETERNAL PEACE!
Added By Rakesh Raina
This is full of emotions n the bonding you had with departed soul ,,what strikes me most is the last to last line.........'
Added By Subhash Razdan
Peace be to departed soul, Sabji lives in our hearts.
Added By Subhash Razdan
Will miss this soft spoken, ever smiling personality with great humor in our lives.
Added By Deepak Ganju
Dear Saib-Ji. We miss you every day,every moment.Our hearts are vibrating with pain and suffering, for you.You are our beloved Saib Ji. AShutosh( Satish Ji & Madhu)
Added By Ashutosh Handu
Dear Saib Ji. We miss you on every occasion,whether social,religious or cultural,or othersise.Your presence is felt in the Matamal.Welove your humour smile and generous heart--Dariya Dilli.We remember you,when you donated your blood to save the life of respected Pita Ji,who would name you as Sashi Kaptan. Sandhya Joins me in remembering you.The shock is heavily felt by your Mama ji.
Added By Abhinav Kamal Raina
Dear Saib Ji My prayrs for your Eternal Place,which is VAIKUNTH.Your sincerity towards your duty is an example.We miss you always. Bhagwan Tumhari Atma Ko Ucchatam Shanti Pradaan Karen! Jaya
Added By Jaya Sibu raina
ADVERTIZE HERE